बुधवार, मार्च 31, 2010

विष्णु की नाक में रुई..?

एक औरत किसी लालसा से बहुत दिनों तक विष्णु की भक्ति
करती रही पर कोई फ़ल प्राप्त नहीं हुआ ..तब किसी ने उसे
सुझाव दिया कि शंकर की भक्ति करो उससे जल्दी लाभ होगा
उसने वैसा ही करने की सोची लेकिन सुझाव देने वाले ने कहा
ऐसा करना कि शंकर को ऊँचा रखना और विष्णु को नीचे..
उस औरत ने बात मान ली और विष्णु को उठाकर नीचे रख
दिया और शंकर को ऊपर वाले खाने में बैठा दिया..फ़िर जब
वह औरत पूजा आदि के लिये अगरवत्ती जलाने लगी तो
उसको ख्याल आया कि अगरवत्ती की खुशबू विष्णु को भी
लगेगी और इस तरह तो उनकी भी पूजा हो जायेगी..तो
मेरा शायद काम न हो ..फ़िर कुछ विचार करके उसने विष्णु
की नाक में रुई चिपका दी और पूजा करने लगी ..इससे विष्णु
प्रकट हो गये.और कहा कि तुम्हारी आस्था कितनी सच्ची है जो इस मूर्ति में भी तुम असली का अनुभव भाव रखती हो..कहते हैं कि विष्णु ने उसकी इच्छा पूरी कर दी .

1 टिप्पणी:

राजीव कुमार कुलश्रेष्ठ ने कहा…

मेरा ब्लागिंग उद्देश्य गूढ रहस्यों को
आपस में बांटना और ग्यानीजनों से
प्राप्त करना भी है..इसलिये ये आवश्यक नहीं
कि आप पोस्ट के बारे में ही कमेंट करे कोई
दुर्लभ ग्यान या रोचक जानकारी आप सहर्ष
टिप्पणी रूप में पोस्ट कर सकते हैं ..आप सब का हार्दिक
धन्यवाद
satguru-satykikhoj.blogspot.com

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...